55 Views

विघ्नशांती !!
✍️ २३१०

विनोदकुमार महाजन
——————————

दसदिशाओं से भी
हमें विघ्न घेर ले तो
सदैव यह शब्द बोलिए…
बोलते रहिए…

विघ्नशांती ! विघ्नशांती !!
विघ्नशांती !!!

और संपूर्ण विघ्नशांती होने तक धैर्य धारण किजिए !

तो आप महसूस करेंगे,
धीरे धीरे सारे विघ्न
शांत हो जा रहे है !

और विघ्नशांती के बाद….

आप निरंतर…
आनंदसागर में डुबकीयाँ
लगाते रहेंगे !

श्री हरी !!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!