22 Views

गौमाते , अगर तेरे प्राणों की
रक्षा करने में हम असमर्थ है
तो हम हिंदू कहने के लायक
नहीं है और नाही हमें जीने का
हक भी है ! निरर्थक जीवन !!
व्यर्थ जीवन !!!

उन्मादी राक्षसों ?? का सर्वनाश
यही होना चाहिए सभी हिंदुओं के जीवन का उद्देश !!

गौमाता बचाव सजीव बचाव !
गौमाता बचाव सृष्टी बचाव !
गौमाता बचाव सृष्टीचक्र बचाव !

पापमुक्त भारती माता !
पापमुक्त धरती माता !

जय गौमाता की !!

विनोदकुमार महाजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!